नहीं थम रहा झोलाछाप डॉक्टरों का कहर एक छात्र की इंजेक्शन लगाने से मौत






बीसलपुर कोतवाली क्षेत्र के गांव परेवा में एक झोलाछाप डॉक्टर बंगाली गांव मीरपुर बहानपुर निवासी पिंटू नामक बैठता है जो भोले भाले ग्रामीणों की मौत से खिलवाड़ कर रहा है गांव सिसैया जलालपुर निवासी एक कक्षा 10 का छात्र अभिषेक सिंह पुत्र परमाल सिंह उम्र 14 वर्ष पिंटू झोलाछाप डॉक्टर के यहां परेवा में दवा लेने गया तो उसने ऐसा इंजेक्शन लगाया कि उसके क्लीनिक पर ही छात्र अभिषेक सिंह की मौत हो गई जिसको लेकर क्षेत्र में कोहराम मच गया और यह बात आग की तरह फैल गई छात्र वहीं पर ढेर हो गया और क्लीनिक स्वामी पिंटू वहां से फरार हो गया जिसकी तहरीर मृतक के पिता परमाल सिंह ने कोतवाली पुलिस को दी पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल की और जांच पड़ताल के बाद गांव मीरपुर बहानपुर निवासी पिंटू बंगाली को अपने हिरासत में ले लिया और जांच शुरू की गई मृतक के शव का पुलिस ने अभी तक पोस्टमार्टम नहीं कराया है जबकि परमाल सिंह ने पुलिस को तहरीर दे दी है इधर क्षेत्र के दबंग लोग पीड़ित के घर पहुंच कर फैसले का दबाव बना रहे हैं तथा उन्होंने साढ़े तीन लाख की रकम भी देने को कह दी है लेकिन पीड़ित का कहना है कि वह अपना मुकदमा पंजीकृत करायेगा लेकिन इधर क्षेत्र के दबंग व्यक्ति लगातार उस पर फैसले का दबाव बना रहे हैं इस संबंध में समुदाय स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक लेखराज गंगवार से जानकारी ली तो उनका कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है मामला संज्ञान में आने पर जांच-पड़ताल कर कार्यवाही की जाएगी और क्षेत्र में लगातार झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है मीरपुर बहानपुर में एक क्लीनिक को सीज भी किया लेकिन उस पर अभी तक मुकदमा पंजीकृत नहीं हुआ है यही नहीं गांव मीरपुर बहानपुर में लगभग एक दर्जन झोलाछाप डॉक्टरों की क्लीनिक है तथा परेवा में चार सिसैया में दो जल्लापुर में दो कंधरापुर में चार महमुदपुर भजा में तीन चेना में दो अभय पुर भगवंतपुर में पांच पटनिया में एक सहित चुर्रासकतपुर दस क्षेत्र में तमाम झोलाछाप डॉक्टर कुकुरमुत्ता के भाति फैले हुए हैं गांव परेवा में एक झोलाछाप डॉक्टर है जो जूता चप्पल की दुकान के अंदर दुकान खोले हुए हैं तथा वहां पर एक महिला चिकित्सक आती है जो गर्भपात भी करती है लेकिन इस झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है क्षेत्र के लोगों में इन झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ भारी रोष है उन्होंने शीघ्र ही इनके खिलाफ जांच कराकर इन की दुकानें बंद कराए जाने की मांग की है लगभग आधा दर्जन झोलाछाप डॉक्टर है जो भोले भाले लोगों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं यही नहीं फर्जी मेडिकल स्टोर की भरमार है

संवाददाता अनिल कुमार वर्मा की रिपोर्ट

Leave a Comment