पीजी कॉलेज धार में जननायक भगवान बिरसा मुंडा की जयंती मनाई गई







धार जिला क्राइम रिपोर्टर
इद्रीश शाह की रिपोर्ट




पीजी कॉलेज धार में जननायक भगवान बिरसा मुंडा की जयंती मनाई गई
पीजी कॉलेज धार में प्राचार्य डॉ असगर अली व प्रशासनिक अधिकारी डॉक्टर गजेंद्र उज्जैन के मार्गदर्शन में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें धार शहर के विद्वान जनों का व्याख्यान आयोजित किया गया
डॉ एलएस निंगवाल ने बिरसा मुंडा के जीवन पर विस्तृत प्रकाश डाला । श्रीकांत द्विवेदी ने कहा की बिरसा मुंडा के जीवन से बहुत कुछ सीखा जा सकता युवाओं को प्रेरणा लेना चाहिए

डॉ रमेश चंद्र मुवेल ने संबोधित करते हुए बताया कि आजादी के मतवाले अपने दिमाग में गजब का उत्साह लिए समाज को दिशा दिखाते गए, अभाव में भी समाज को दिशा दिखाना बड़ी बात है
डीएस मोर्य उप -संचालक कृषि ने संबोधित करते हुए मुंडा जी के भगवान बनने की बात बताई किस प्रकार से उन्होंने साधना की ,जड़ी बूटियों का ज्ञान अर्जित किया जब लोग उनसे मिलने जाते तो उनके हाथ रखने मात्र से या उनके संपर्क में आने मात्र से व्यक्ति ठीक हो जाते थे, इसलिए लोग उन्हें भगवान कहते थे। वैसे उन्होंने उलगुलान शब्द का प्रयोग किया इसका अर्थ होता है लड़ो या महान हलचल ,उन्होंने बताया कि रानी का राज खत्म करो अर्थात रानी विक्टोरिया का शासन खत्म करो ऐसा उद्देश्य लेकर आंदोलन किए
डीएस मंडलोई कृषि वैज्ञानिक ने बिरसा मुंडा जी के जन्म जयंती की शुभकामनाएं प्रेषित की।
प्राचार्य डॉ असगर अली ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारी कम्युनिटी मैं हम एक दूसरे का बहुत सहयोग करते हैं ऐसा ही जनजाति समुदाय में एक परिवार को गोद लेकर काम करे इससे आर्थिक स्थिति, सामाजिक स्थिति को सुधार सकते हैं इससे समाज आधुनिक युग में विकसित हो सकेगा
जननायक बिरसा मुंडा के जीवन पर एक आलेख लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें छात्र कृष्णा सिंदल ने उत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया, स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया, विजय बामनिया को प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई।
आभार व्यक्त करते हुए डॉक्टर एन एस ने सोलंकी ने कहा कि आज जनजाति उनके रहन-सहन, उनका खानपान और दैनिक दिनचर्या चिकित्सा पद्धति जीवन पद्धति पर कई रिसर्च पेपर बन रहे हैं इससे सिद्ध हो रहा है कि उन्हें वैज्ञानिक ज्ञान पहले से ही रहा है सोशल डिस्टेंसिंग मैं रहना कोई इनसे सीखे। आज हम जनजाति गौरव दिवस पर बिरसा मुंडा जी के बहुत बहुत आभारी हैं। अतिथि परिचय डॉक्टर लक्ष्मी बघेल ने दिया डॉक्टर रायकु जमरा एवं डॉ के एस चौहान का सराहनीय सहयोग रहा इस अवसर पर महाविद्यालय परिवार छात्र-छात्रा उपस्थित थे
कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर अरूणा मोटवानी ने किया

Advertisement

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?